What Is Internet In Hindi |Internet Kya Hai |10 Advantages Of Internet

What Is Internet In Hindi | इंटरनेट क्या है?

आजके What IS Internet In Hindi इस ब्लॉग में हम इंटरनेट के बारे में जानने वाले है। इसके Types क्या है, इसके टॉप १० फायदे और इसके इतिहास के बारे में।

तो चलिए दोस्तों शुरू करते है आजके हमारे ब्लॉग को इंटरनेट क्या है?

इंटरनेट एक नेटवर्क का जाल है जो दुनिया भर के कंप्यूटर् नेटवर्क को संस्था,महाविद्यालयों, सरकारी संस्थाओ को आपस में जोड़कर एक दूसरे से ऑनलाइन या डिजिटली बात करने की अनुमति देता है।

केबल, कंप्यूटर, डेटा सेंटर, राउटर, सर्वर, रिपीटर, सैटेलाइट और वाईफाई टॉवर का एक माध्यम है जो डिजिटल जानकारी को दुनिया भर में यात्रा करने की अनुमति देता है।

यह वो माध्यम है जो आपको नेटफ्लिक्स पर शोज दिखता है, सोशल मीडिया पर नए नए दोस्तों से मिलाता है और न जाने कितने ऐसे आपके मनोरंजन से सम्बंधित या बैंकिंग से जुड़े समस्याओ को घर बैठे हल करता है। 

What Is Internet In Hindi

इंटरनेट से कनेक्टेड जो भी डिवाइस है या इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है उनका यह एक बुनियादी ढांचा है जिसके माध्यम से वो डिवाइस एक दूसरे से कनेक्ट रहते है। 

दुनिया का कोई भी इंसान जो जीवित है इंटरनेट से जुड़ सकता है और वर्ल्ड वाइड वेब की मदत से वेब ब्राउज़िंग कर के अपनी मनचाही जानकारी इंटरनेट से प्राप्त कर सकता है। 

इंटरनेट सेवा देनेवाली कंपनियों द्वारा वाई-फाई सिग्नल, मोबाइल इंटरनेट, सार्वजनिक हॉटस्पॉट, ब्रॉडबैंड, केबल और इसी प्रकार के कई डिवाइस के माध्यम से इंटरनेट कनेक्शन या इंटरनेट एक्सेस की सर्विस दी जाती है।

History Of Internet In Hindi | इंटरनेट का इतिहास

जैसा की आप जानते है इंटरनेट एक बोहोत ही महँगी और समय के साथ विस्तारित रूप से बढ़ने वाली तकनीक है।  दुनिया के किसी एक इंसान को इसके अविष्कार के लिए श्रेय नहीं दिया जा सकता। 

इंटरनेट बनाने में न जाने कितने ही प्रोग्रामर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर और विज्ञानिको ने मिलकर इसका अविष्कार किया था। 

इंटरनेट बनाने के लिए जो तकनीक का इस्तेमाल होता है उसके आने से बोहोत पहले विज्ञानिको ने विश्वव्यापी नेटवर्क के जरुरत का अनुमान लगा लिया था।

What Is Internet In Hindi

इंटरनेट की इनिशियल क्रेडिट Leonard  Kleinrock  को दया जाता है, जब उन्होंने १९६१ में  information flow in large communication nets नमक पेपर को पब्लिश किया।

१९६८ में स्टैंडफोर्ड रिसर्च इंस्टिट्यूट में कुछ लोगो ने मीटिंग करते समय आगे से ऑनलाइन मीटिंग करने का आईडिया डिसकस किया।  इसके बाद ३ जुलाई १९६९ में University ऑफ़ कैलिफोर्निया ने एक प्रेस कॉनफेरेन्स ली और लोगो को इंटरनेट के बारे में बताया।

इंटरनेट के माद्यम से जो पहला सन्देश भेजा गया था वो था “LO” क्यों की सन्देश टाइप करते समय सिस्टम क्रैश हो गया और लॉगिन को सिर्फ LO ही सेंड हो पाया। 

वैसे  अविष्कार US की सेना के लिए किया गया था क्यू की उस समय अमरीका को अपनी सेना को सन्देश पोहचना मुमकीन नहीं हो रहा था।  तभी उनके दिमाग में यह बात आयी की हम एक सन्देश को काफी सारे लोगो तक पोहचा सके ऐसा कोई माध्यम होना जरुरी है। 

तभी Vint Cerf जिन्हे फादर ऑफ़ इंटरनेट कहा जाता है इन्होने इसे देखा समझा और उनके दिमाग में १९६९ में इंटरनेट को बनाने की कल्पना आयी और उन्होंने १९७० से लेकर १९८० तक इसपर काम किया। १९७० से १९८० के दौरान १९७३ में TCP/IP का निर्माण हुआ जिससे हमारा इंटरनेट चलना शुरू हुआ।  

10 Advantages / Uses Of Internet In Hindi | इंटरनेट के १० फायदे।

हालांकि इसमें कोई शंका नहीं है कि दुनिया में इंटरनेट का उपयोग दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा है, हम कभी भी सोच नहीं सकते की दुनिया में लोग इंटरनेट का कितना और कैसे इस्तेमाल करते है। 

हमारे लिए इंटरनेट के १० फायदों के बारे निचे दिया गया है।

1) इंटरनेट की मदत से आप आपकी मनचाही चीज़ इंटरनेट पर ऑनलाइन खोज सकते है। दुनिया की किसी भी जगह के बारे में ऑनलाइन जानकारी हासिल कर सकते है।

2) इंटरनेट की मदत से आप अपनने मनचाहे गेम्स ऑनलाइन खेल सकते है और इन्हे आप फ्री में डाउनलोड भी कर सकते है।

3) इंटरनेट पर आप रोजाना न्यूज़, मनोरंजात्मक, टेक्निकल या राजनीती से जुड़े समाचारो को कही भी पढ़ या सुन सकते है।

4) इंटरनेट से आप सोशल मीडिया के माध्यम से दुनिया में कही भी किसी को भी अपना दोस्त बना सकते है और उनसे बाते कर सकते है।

5) आपके पसंदिता वीडियोस, प्रोग्राम, लाइव शो, टीवी, मतलब आपके एंटरटेनमेंट का सभी सामान इंटरनेट पर उपलब्ध है।

6) इंटरनेट की मदत से आसानी से हम घरबैठे हमारे सभी बिल का भुगतान कर सकते है। इंटरनेट पर हम क्रेडिट कार्ड या नेटबैंकिंग की मदत से कुछ ही मिनिटो में कर सकते है। बिजली बिल, टेलीफोन बिल, डी टी एच, या ऑनलाइन शॉपिंग जैसे बिलो का भुगतान मिनिटो में कर सकते है।

7) भलेही आप दुनिया के किसी भी कोने में बैठे हो, एक जगह से दूसरी जगह कई प्रकार की जानकारिया या सुचना कुछ ही सेकंड में भेज और प्राप्त कर सकते है। आज इंटरनेट पर वॉइस कॉल, वॉइस मैसेज, ईमेल, वीडियो कॉल कर सकते है। 

8) ऑनलाइन ऑफिस का काम कर सकते है। कुछ ऐसी बड़ी कम्पनिया है जो अपने कर्मचारियों के लिए घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से काम करने की सुविधा प्रदान करती है। 

कई ऐसी ऑनलाइन मार्केटिंग और कम्युनिकेशन से जुडी कम्पनिया है जिसके कर्मचारी अपने घर पर ही अपने लैपटॉप या मोबाइल फ़ोन पर इंटरनेट के माध्यम से काम करते है।

9) ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते है, अब लोगो को बार बार दुकान जाने की आवशकता भी नहीं है क्यू की अब आप घर बैठे इंटरनेट की मदत से ऑनलाइन शॉपिंग करके अपनी जरुरत का सामान घर पर बुला सकते है। ऑनलाइन शॉपिंग में बिना किसी मोलभाव के शॉपिंग कर सकते है वो भी सस्ते दामों मे।

10) व्यापर को बढ़ावा मिलता है, ऐसे की हम सभी जानते है आज इंटरनेट ने लोगो के घर में जगह बना ली है, इसीलिए इंटरनेट के माध्यम से अगर आप चाहे तो घर बैठे अपने व्यापर को बोहोत आगे ले जा सकते है।

दुनिया की सभी बड़ी कम्पनिया अपने व्यापर को और आगे ले जाने के लिए इंटरनेट की मदत ले रही है , दुनिया की सभी कम्पनिया ऑनलाइन एडवरटाइजिंग, एफिलिएट मार्केटिंग की मदत से अपने व्यापार को इंटरनेट के माध्यम से पूरी दुनिया में फ़ैलाने में जुटे हुए है। 

Disadvantages Of Internet In Hindi |इंटरनेट से होने वाले नुकसान

1) समय की बर्बादी, जो लोग इंटरनेट को अपने जरुरी काम के लिए और जानकारी लेने के लिए उपयोग करते है उनके किये इंटरनेट लाभदायक होता है, परन्तु जो लोग बिना किसी मतलब के इसे अपनी आदत बना लेते है और अपना समय बर्बाद करते है उनके लिए ये सबसे बड़ा नुकसान है। हमें इंटरनेट का उपयोग समय के अनुसार करना चाहिए। 

2) इंटरनेट फ्री नहीं होता है, इंटरनेट का कनेक्शन तभी हमें लेना चाहिए जब हमें इसकी जरुरत हो, क्यू की सभी इंटरनेट सेवा देने वाली कम्पनिया इंटरनेट सेवा का भरी पैसा लेती है।

अगर आपको इंटरनेट काम ज्यादा नहीं पड़ता है तो आप कोई प्रीपेड सर्विस ले सकते है और अपने जरुरत के मुताबिक उसमे टॉपअप करके इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते है।

3) इंटरनेट पर संचार की गति बोहोत ही तेज है, इसीलिए लोग अपने किसी दुश्मन या जिसको बदनाम करना चाहते हो उनके विषय में ऑनलाइन गलत प्रचार करके शोषण और अनुचित लाभ उठाते है। साथ ही इंटरनेट पर कई अश्लील चीजे है जिसकी वजह से कम उम्र के बच्चो को गलत शिक्षा मिल रही है।

4) इंटरनेट पर चोरी, धोखाधड़ी के मामले अक्सर होते रहते है।  इंटरनेट पर ऑनलाइन बैंक से पैसे चुरा लेना, किसी ऑफर का झांसा देकर पैसो का फ्रॉड करना और भी बोहोत सारे ऐसे केसेस मौजूद है। 

5) इंटरनेट से लोगो की निजी जानकारिया और ईमेल आयडी को चुरा कर कई धोकेबाज कम्पनिया झूठे ईमेल भेजती है जिनसे वह लोगो ठगते है या हैक कर लेते है।

6) इंटरनेट की लत और स्वास्थ प्रभाव, दुनिया में वो शराब की लत हो या फिर किसी और चीज़ की शरीर के लिए हानिकारक होती है। कई ऐसे लोग होते है जो इंटरनेट के बिना न कहते है न पिते है, इंटरनेट से भी कई प्रकार के बुरे प्रभाव होते है, जैसे वजन बढ़ना, पैरो और हाथो में दर्द होना, आँखों में दर्द और आँखों की रौशनी काम होना, मानसिक तनाव और कई तरह की बीमारिया शामिल है।

7) एक अध्ययन में पता चला है की जो लोग इंटरनेट का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते है उनके मष्तिष्क पर बोहोत ही बुरा असर पड़ सकता है। उनको दिमाग से जुडी बीमारियों से जुजना पड सकता है।

Different Connections Types of Internet In Hindi | इंटरनेट कनेक्शन के अलग-अलग प्रकार

इंटरनेट का उपयोग करने से पहले आपको किसी सर्वर से जुड़ना होता है, सर्वर एक ऐसा सिस्टम होता है जो यूजर द्वारा आनेवाली रिक्वेस्ट का स्वीकार करके उसके द्वारा मांगी गयी जानकारी को उपलब्ध करता है।

आपको ऑनलाइन जुड़ने के लिए किसी भी एक प्रकार का इंटरनेट कनेक्शन चुनना होगा, निचे दिए गए जानकारी के आधार पर आप आपके जरुरत के हिसाब से इंटरनेट कनेक्शन का चयन कर सकते है। 

१) डायल अप कनेक्शन (Dial Up Connection)

डायल अप कनेक्शन में यूजर का कनेक्शन फोन के द्वारा जोड़ा जाता है इसीलिए इसे एनालॉग कनेक्शन कहा जाता है।  इसमें जो लिंक जोड़ा जाता है वो फोन लाइन के जरिये जोड़ा जाता है।

यह टेम्पोररली कनेक्शन होता है यानि हर टाइम पर यूजर या उसका कंप्यूटर इंटरनेट से कनेक्टेड नहीं होता है। जब भी यूजर को इंटरनेट की जरुरत होती है उस टाइम पर मॉडम और फोन लाइन के द्वारा नंबर डायल करता है, उसी डायल किये गए नंबर द्वारा ही यूजर इंटरनेट से कनेक्ट हो जाता है।

जब हमें इंटरनेट की जरुरत नहीं होती है तब हम इंटरनेट को अपने कंप्यूटर से डिसकनेक्ट कर सकते है।  डायल अप कनेक्शन का मासिक शुल्क काम होता है। 

२) ब्रॉडबैंड कनेक्शन (Broad Band Connection)

ब्रॉडबैंड कनेक्शन दो नामो से बना हुआ है ब्रॉड और बैंड।  इसमें ब्रॉड का मतलब है लार्ज अमाउंट और बैंड का मतलब है बैंडविड्थ यानि की ब्रॉडबैंड कनेक्शन में हम ज्यादा डेटा को भी काम समय के अंदर  ट्रांसफर कर सकते है।

इसमें डाटा ट्रांसफर की गति बोहोत ही ज्यादा होती है, इसमें २५६ केबीपीएस से लेकर १ एमबीपीएस तक की स्पीड होती है।

अगर हम इसकी सब  कैटेगिरी की बात करे तो ब्रॉडबैंड कनेक्शन ३ प्रकार का होता है

  1. केबल कनेक्शन
  2. DSL Connection
  3. सॅटॅलाइट कनेक्शन।

३) वायरलेस कनेक्शन (Wireless Connection)

वायरलेस कनेक्शन के अंदर किसी भी प्रकार का कोई भी वायर उपलब्ध नहीं होता है, इसमें जो कोई भी कनेक्टिविटी होती है वो बिना किसी वायर के होती है।

इसके भी दो प्रकार है

  1. Wi-Fi
  2. Wi-Max

१)Wi-Fi Connection

इसमें हमारे कंप्यूटर सिस्टम को राऊटर से जोड़ा जाता है, यानि की हमारा जो इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर है उससे हम राऊटर द्वारा जोड़े जाते है। इस कनेक्शन में हमारे जितने भी पोर्टेबल डिवाइस होते है जैसे की मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर, एंड्राइड टीवी ये सारे कनेक्ट किये जा सकते है। 

What Is Internet In Hindi

२) Wi-Max Connection

यह कनेक्शन भी ठीक Wi-Fi कनेक्शन जैसा ही काम करता है लेकिन इसकी स्पीड बोहोतही ज्यादा होती है।  इसकी रेंज ५० km तक हो सकती है। 

Importance Of Internet In Hindi | इंटरनेट का महत्व

इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है जो कम समय में संदेश पोहचता है, वो दुनिया का सबसे बड़ा पुस्तकालय है, २४ घंटे खुला रहने वाला ज्ञान का भंडार है, आप जब चाहे जहा चाहे उसका इस्तेमाल कर सकते है। 

इसकी मदत से आप दुनिया के किसी भी कोने में बैठे हुए इंसान से कनेक्ट हो सकते है। ऑनलाइन चीजे खरीद सकते है। दुनिया में हो रही घटनाओ की जानकारी  आप घरबैठे पा सकते है, इंटरनेट एक ऐसा विशालकाय सागर है की आप इसकी जितने गहराई में जायेंगे लेकिन यह कभी ख़तम नहीं होगा।

आज के दौर में इंटरनेट लोगो के जीवन का हिस्सा बन गया है, इसको न ही लोग छोड़ सकते है है और न ही इसके बगैर रह सकते है।

दुनिया के कई सरे लोगो का बिज़नेस इंटरनेट से चलता है, अगर इंटरनेट बंद हो गया तो पूरा वैश्विक कांटेक्ट टूट जायेगा, सब देशो का आपस का कनेक्शन टूट जायेगा।  इंटरनेट हमारे जीवन में बोहोतही अहम् भूमिका निभाता है। 

दोस्तों मै आशा करता हु की आपको मेरा यह ब्लॉग इंटरनेट क्या है (What Is Internet In Hindi)  पसंद आया होगा। ऐसे ही ब्लॉग पढ़ने के लिए लाइक और शेयर करे। 

धन्यवाद् !

यह भी पढ़े :-

Computer Kya Hai? What Is Computer In Hindi

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ? जानिए 2021 में

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *