Republic Day Speech In Hindi | 26th January Speech for Students & Kids in Hindi

गणतंत्र दिवस भाषण हिंदी में| Republic Day Speech In Hindi

Republic Day Speech In Hindi गणतंत्र दिवस भाषण:-गणतंत्र दिवस, एक राष्ट्रीय उत्सव है, बच्चे और छात्र बहुत उत्साह के साथ गणतंत्र दिवस उत्सव की तैयारी का अनुमान लगाते हैं।

इस विशेष दिन पर,  हमारे देश का हर नौजवान और हर एक इंसान इस कार्यक्रम को चिह्नित करने के लिए राष्ट्रीय ध्वज अर्थात तिरंगा फहराता है, भारत देश को समर्पित गीत गूंजते हैं।

इस घटना को यादगार बनाने के लिए कई स्कूल, सरकारी संस्थाए विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं।

Republic Day Speech In Hindi

यह दिन हमें हमारे सभी स्वतंत्रता सेनानियों, देश की आजादी के प्रति उनके बलिदान और देश के प्रति उनकी भक्ति की याद दिलाता है। इसलिए, गणतंत्र दिवस पर हम उनकी पूरी श्रद्धा और सम्मान करते हैं।

Long and Short Republic Day Speech In Hindi for Kids and Students

गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर उपस्थित सभी अथितियो और मेरे दोस्तो को गुड मॉर्निंग।

जैसा कि हम सभी जानते हैं, हम अपने देश के 72 वें गणतंत्र दिवस को मनाने के लिए यहां इकट्ठे हुए हैं। 26 जनवरी को प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस की प्रशंसा की जाती है, जिसने पूरे भारत के पूरे अस्तित्व में विशेष महत्व प्राप्त किया है।

हर साल, इस राष्ट्रीय अवसर की सराहना की जाती है, इस अवसर को सुंदर और यादगार बनाने के लिए हमरे देश में बहुत सारे उत्सवों आयोजन किया जाता है ।  26 जनवरी 1950 को, भारत का संविधान प्रभावी हुआ और इस अवसर को पहचानने और इसे मनाने के लिए   इस दिन को राष्ट्रीय दिवस अर्थात गणतंत्र दिवस (Republic Day ) के रूप में मनाया जाता है।

 भारत को 15 अगस्त, 1947 को स्वतंत्रता मिली थी, लेकिन हमारे देश का अपना संविधान नहीं था। बल्कि इसका प्रतिनिधित्व अंग्रेजों द्वारा प्रस्तावित कानूनों के तहत किया गया था।

कई परामर्शों और संशोधनों के बाद, डॉ. बी. आर. अंबेडकर जी की अध्यक्षता में एक सलाहकार समूह ने भारतीय संविधान का एक प्रारूप प्रस्तुत किया, जिसे 26 नवंबर 1949 को समायोजित किया गया और आधिकारिक तौर पर 26 जनवरी 1950 को प्रभावी किया गया।

‘लोकतंत्र ‘हमारी शक्ति को दर्शाता है, जो सर्वोच्च है। गणतंत्र देश में रहने वाले एक निवासी राष्ट्र का नेतृत्व करने के लिए अपने प्रतिनिधियों / राजनीतिक अग्रणी को चुनने के अधिकार की सराहना करते हैं। इस तरह, भारतीय गणराज्य में, प्रत्येक निवासी स्थिति और सेक्स से स्वतंत्र समान अधिकारों का हक रखता है।

गणतंत्र दिवस का उत्सव राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में राजपथ पर आयोजित किया होता है, जिसमें भारत के राष्ट्रपति की मौजूदगी में बड़ी संख्या में लोग भारत के साथ-साथ अन्य देशो से भी उत्सव का आनंद लेते हैं।

इस दिन, राजपथ पर समारोह आयोजित किए जाते हैं, जिन्हें भारत में उत्सव के रूप में आगे मनाया जाता है। यह महोत्सव राष्ट्रपति भवन (राष्ट्रपति आवास) के दरवाजों से शुरू होता है, इंडिया गेट के सामने राजपथ पर रायसीना हिल गणतंत्र दिवस समारोह का मूल आकर्षण होता है।

इसके बाद राजपथ पर विभिन्न गणमान्य लोगों की मौजूदगी में इस कार्यक्रम का आयोजन शुरू होता है  भारत के राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री और अन्य उच्च पदस्थ अधिकारी सामान्यतः गणमान्य व्यक्तियों की सूची में शामिल होते हैं।

भारत नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस उत्सव के लिए राज्य अतिथि के रूप में किसी अन्य राष्ट्र के राज्य या सरकार के प्रमुख को सुविधा प्रदान की जाती है। 1950 से इसका पालन किया जा रहा है।

राष्ट्रपति राष्ट्रीय ध्वज को फहराते हैं और गणतंत्र दिवस के भाषण के साथ देश में मौजूद सभी लोगों को और दूसरों को भी प्रोत्साहित करते हुए देश को संबोधित करते हैं।

इस कार्यक्रम में, शहीदों और किंवदंतियों को सम्मानजनक सम्मान प्रदान किया जाता है, जिन्होंने राष्ट्र के लिए जीवन समर्पित किया।

Republic Day Speech In Hindi

गणतंत्र दिवस मार्च त्योहार का एक अचूक और आँखों में बसने वाला घटक है क्योंकि यह भारत की रक्षा क्षमता, सांस्कृतिक और सामाजिक विरासत को दर्शाता है। प्रत्येक राज्य द्वारा दिखाए गयी रंगीन झांकिया उनके जीवन के तरीके को चित्रित करती हैं।

प्रत्येक स्कूल, कॉलेज और कार्यालय गणतंत्र दिवस में रुचि लेते हैं और अपने उत्साह को दिखाते हैं।

राष्ट्र में निवासी एक-दूसरे की कामना करते हैं, उत्सव का उल्लास लेकर आते हैं और इसके अलावा गणतंत्र दिवस के महत्व को भी बताते हैं। यह दिन उत्साह, सम्मान, बलिदानों को समझने और हमारी स्वतंत्रता का जश्न मनाने के बारे में है।

मैं आप सबका आभारी हु की आपने मुझे शांतिपूर्वक सुना और आपका कीमती समय देकर मुझे बोलने का मौका दिया।

धन्यवाद।

150 Words Republic Day Speech In Hindi

गणतंत्र दिवस के इस शुभ अवसर पर यहां उपस्थित सभी को शुभकामनाएं।

हम सभी आज अपने देश के 72  वें गणतंत्र दिवस का जश्न मनाने के लिए यहाँ इकट्ठा हुए हैं। यह घटना हमारे देश के प्रत्येक नागरिक के लिए एक बहुत ही गौरवशाली और प्रशंसनीय घटना है। इस घटना के दिन, हमें अपने देश को आगे बढ़ाने के लिए ईश्वर से प्रार्थना करनी चाहिए और हममें से प्रत्येक का स्वागत करना चाहिए।

26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि भारत का संविधान इसी दिन लागू हुआ था। 26 जनवरी 1950 को, भारतीय संविधान लागू हुआ, हम भारत के लोग 1950 से लगातार भारत के गणतंत्र दिवस की प्रशंसा करते हैं।

भारत एक  लोकतांत्रिक और न्यायपूर्ण देश है जहाँ प्रत्येक नागरिक को नेता चुनने की अनुमति दी गयी है जो देश का नेतृत्व करते है। हालांकि अब तक कई सुधार हुए हैं, लेकिन इसके साथ कुछ गिरावट भी आई है, जैसे कि बेरोजगारी, साक्षरता की कमी, प्रदूषण, गरीबी, और इसी तरह।

आज हम इस देश के लोगों को एक साथ इस प्रकार के मुद्दों को हल करने का वादा कर सकते हैं ताकि यह देश दुनिया के सर्वश्रेष्ठ और विकसीत  देशों में से एक बन सके।

मुझे  शान्तिपूर्वक सुनने के लिए और आपका कीमती समय देने के लिए, आप सभी को धन्यवाद।

गणतंत्र दिवस भाषण पर पूछे जाने वाले प्रश्न

(FAQ’s on Republic Day Speech)

  • क्या यह 70 वाँ या 69 वाँ गणतंत्र दिवस है? (Is it 70th or 69th Republic Day?)

उत्तर :- नहीं, अगर हम १९५० से जिसे जोड़ते है तो यह 71 वा साल है और अगर हम १९४९ से जोड़ते है तो यह ७२ वा गणतंत्र दिवस है.

  • 71 वाँ या 72 वाँ गणतंत्र दिवस है? (Is 71st or 72nd Republic Day?)

उत्तर :- नहीं, अगर हम १९५० से जिसे जोड़ते है तो यह 71 वा साल है और अगर हम १९४९ से जोड़ते है तो यह ७२ वा गणतंत्र दिवस है.

  • भारत में गणतंत्र दिवस की शुरुआत कब हुई? (When did Republic Day started in India?)

उत्तर:– जबसे भारत में संविधान लागु हुआ था मतलब २६ जनवरी १९५० से गणतंत्र दिवस की शुरवात हुई थी

  • क्या यह 69 वाँ गणतंत्र दिवस है? (Is this 69th Republic Day?)

उत्तर :- नहीं यह ७२  वा गणतंत्र दिवस है।

  • गणतंत्र दिवस की शुरुआत किसने की थी? (Who was the person that started Republic Day?)

उत्तर:- पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा 31 दिसंबर 1929 को, भारत का राष्ट्रीय ध्वज रावी नदी के किनारे फहराया गया था, और पूर्णा स्वराज की मांग की गई थी, जिसका अर्थ है पूर्ण स्वतंत्रता या स्व-शासन।

  • गणतंत्र के कितने वर्ष, हमने वर्ष 2020 में मनाया? (How many years of the republic, we celebrated in the year 2020?)

उत्तर:- 2020 में भारत के लोगों ने अपना 71 वां गणतंत्र दिवस मनाया।

  • भारत को एक गणतंत्र देश क्यों कहा जाता है? (Why is India called a republic country?)

उत्तर:- 15 अगस्त 1947 को, भारत को स्वतंत्रता मिली, लेकिन यह पूरी तरह से स्वतंत्र नहीं था। लेकिन 26 जनवरी 1950 को, जब भारत का पहला संविधान बनाया गया था, जिससे भारत एक संपूर्ण स्व-शासन देश बन गया था।

  • भारत का संविधान किसने बनाया था? (Who was responsible for making India’s Constitution?)

उत्तर:- भारत का संविधान डॉ. बी. आर. आंबेडकर बनाया था और वह मसूदा समिति के अध्यक्ष भी थे।

  • गणतंत्र दिवस क्या है और इसे क्यों मनाया जाता है? (What is Republic Day and why it is celebrated?)

उत्तर:- । 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि भारत का संविधान इसी दिन लागू हुआ था।

  • हम गणतंत्र दिवस कैसे मनाते हैं? (How do we celebrate Republic Day?)

उत्तर:- गणतंत्र दिवस केवल एक भारतीय त्योहार नहीं है। यह भारत के हर धर्म, जाति और संप्रदाय के लोगों के द्वारा मनाया जाने वाला आनंद का त्योहार है। पूरे देश को यह बताने के लिए तिरंगे में सजाया गया है कि भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहाँ अनेकता में एकता ’मनाई जाती है।

  • गणतंत्र भारत का पिता किसे कहा जाता है? (Who is the father of Republic India?)

उत्तर:- भारतीय गणतंत्र के संस्थापक पिता-महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, डॉ. बी.आर.अम्बेडकर, सुभाष चंद्र बोस और वल्लभभाई पटेल ने नए राष्ट्र को एक ऐसी दिशा में आगे बढ़ाया, जिसने यह सुनिश्चित किया कि यह संप्रदायवाद, जातिवाद से नष्ट न हो।

  • गणतंत्र का पूर्ण रूप क्या है? ( What is the full form of Republic?)

उत्तर:-  गणतंत्र, सरकार का रूप जिसमें एक राज्य नागरिक के प्रतिनिधियों द्वारा शासित होता है।

  • किस वर्ष भारत को गणतंत्र मिला? (Which year India got Republic?)

उत्तर:-  २६ जनवरी १९५० को  भारत को गणतंत्र मिला।

2021’s Republic Day Speech In Hindi and Essay Ideas For Students, Teachers

गणतंत्र दिवस 2021: छात्रों और शिक्षकों के लिए भाषण और निबंध

इस  26 जनवरी, को हम 72 वें गणतंत्र दिवस को मनाने के इकठ्ठा हुए है। हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं, क्योंकि यह वह दिन भी है जब भारत ने 1930 में अंग्रेजों से अपनी स्वतंत्रता “पूर्ण स्वराज” घोषणा की थी।

Republic Day Speech In Hindi

गणतंत्र दिवस केवल एक भारतीय त्योहार नहीं है। यह भारत के हर धर्म, जाति और संप्रदाय के लोगों के द्वारा मनाया जाने वाला आनंद का त्योहार है। पूरे देश को यह बताने के लिए तिरंगे में सजाया गया है कि भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहाँ अनेकता में एकता ’मनाई जाती है।

भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ। लेकिन भारतीय संविधान को लिखने और लागू करने में कुछ समय लगा, जो अंततः 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ। तब से हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं।

    छात्रों के लिए गणतंत्र दिवस भाषण (Republic Day speech for students)

हमारे माननीय प्रिंसिपल, मेरे प्यारे शिक्षकों, मेरे सहायक सीनियर्स और मेरे प्यारे दोस्तों, आपको एक सुप्रभात शुभकामनाएं।

मैं आपको इस विशेष अवसर के बारे में कुछ तथ्य बताना चाहता हूं। यहाँ हम अपने राष्ट्र के 72 वें गणतंत्र दिवस का जश्न मनाने के लिए इकट्ठा हुए है।

हमारे देश को 15 अगस्त 1947 को अपनी स्वतंत्रता मिली, लेकिन हमारे संविधान को लागू होने में तकरीबन कुछ ढाई साल का समय लगा।

हमारे देश का संविधान 26 जनवरी 1950 से पूरी तरह से लागू हो गया, तब से, हमने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने की इस परंपरा को शुरू किया, जो कि एक राष्ट्रीय दिवस है।

इस शुभ दिन पर, हम सभी उन महानुभावो को याद करें, जिन्होंने हमारे कल्याण के लिए अपने जीवन का बलिदान किया था।

मैं उन महान आत्माओं के लिए मौन के एक पल के बाद इस भाषण को समाप्त करना चाहूंगा। मुझे आप सभी के सामने खड़े होने और अपने विचार व्यक्त करने का यह शानदार अवसर देने के लिए धन्यवाद! “

शिक्षकों के लिए गणतंत्र दिवस भाषण (Republic Day speech for Teachers)

माननीय मुख्य अतिथि, सम्मानित प्राचार्य, शिक्षक, माता-पिता और मेरे सभी प्यारे दोस्तों। इस बार हम भारत का 72 वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं, इसीलिए हम यहां एकत्रित हुए हैं।

आज मैं गणतंत्र की महत्त्व के बारे में कुछ शब्द बोलने जा रहा हूं जो सभी भारतीय नागरिकों के लिए बहुत ही खास दिन है और आप सभी को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

भारत में 1950 से 26 जनवरी को हर साल गणतंत्र दिवस मनाया जाता है, क्योंकि इस दिन भारत को गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया था और साथ ही साथ भारत का संविधान लंबे समय के संघर्ष के बाद लागू हुआ था।

अगस्त 1947 में और ढाई साल बाद यह डेमोक्रेटिक रिपब्लिक बन गया। भारत में गणतंत्र दिवस का इतिहास में बहुत महत्व है क्योंकि यह भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के प्रत्येक संघर्ष के बारे में बताता है।

गणतंत्र का मतलब देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति है और देश को सही दिशा में ले जाने के लिए एक राजनीतिक नेता के रूप में अपने प्रतिनिधियों का चुनाव करने का अधिकार केवल जनता को है।

इसलिए, भारत 26 जनवरी 1950 के बाद एक गणतंत्र देश है, जहाँ जनता अपना चुनाव करती है राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री, आदि के रूप में नेता, हमारे महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने भारत में स्वराज के लिए बहुत संघर्ष किया है। हम अपने देश के प्रति उनके बलिदान को कभी नहीं भूल सकते ।

“संगठन के सहप्रमुख, सहकर्मी / शिक्षक और मेरे प्रिय छात्र / मित्र, मैं आज आप सभी को एक आनंदमय सुबह की शुभकामना देता हूं। हम सभी जानते हैं कि हम भारत के गणतंत्र दिवस का जश्न मनाने के लिए वहां इकट्ठे हुए हैं।

१९५० के वर्ष में, भारत के संविधान के लागू होने के बाद सभी भारतीय खुशियों से लद गए। सभी और सभी, भारत इस विशेष दिन पर एक गणतंत्र देश बन गया ”।

Note:-

मुझे उम्मीद है मेरा यह ब्लॉग Republic Day Speech In Hindi आपको अच्छा लगा होगा, Republic Day Speech In Hindi इस ब्लॉग में मैंने Best Republic Day Speech In Hindi में जानकारी देने की कोशिश की है.
अगर आपको Republic Day Speech In Hindi यह ब्लॉग अच्छा लगा हो तो इसे लाइक और शेयर करे।
धन्यवाद ! 

स्वतंत्रता दिवस भाषण | Speech For 15th August In Hindi

Teachers Day Speech In Hindi |Teachers Day Speech 2021

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *