Computer Kya Hai? |What Is Computer In Hindi| Top 10 Benefits of Computer

Table of Contents

Computer Kya Hai? What Is Computer In Hindi

Computer Kya Hai?आजके इस ब्लॉग में हम कंप्यूटर के बारे में जानने वाले है। इसके Types क्या है, इसके टॉप १० फायदे और इसकी जनरेशन के बारे में।

तो चलिए दोस्तों शुरू करते है आजके हमारे ब्लॉग को कंप्यूटर क्या है?

कंप्यूटर एक स्वचलित तथा निर्देषों के अनुसार कार्य करने वाला इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है।  जिसमे  भी डेटा को प्राप्त करने, संग्रहित करने तथा प्रोसेस करने की क्षमता होती है। कंप्यूटर इंग्लिश के ८ अलग अलग शब्दों से बना हुआ है, इसमें हर उन शब्दों का अलग अलग अर्थ है। 

Computer Kya Hai?

जैसे की ,

  1. C का मतलब है Commonly
  2. O का मतलब है Operated
  3. M का मतलब है Machine
  4. P का मतलब है Particularly
  5. U का मतलब है Used For
  6. T का मतलब है Technical
  7. E का मतलब है Education
  8. R का मतलब है And Research

इन सभी ८ शब्दों को एकत्रित करने के बाद Computer यह शब्द बनता है।

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो इंसानो द्वारा दिए गए डेटा को इनपुट के रूप में स्वीकार करता है और इसे आउटपुट के रूप में परिणाम देने के लिए निर्देशों को एक साथ सेट करता है।

कंप्यूटर गणितिय संचालन करने के बाद ही आउटपुट प्रदान करता है।  जिसकी वजह से यह अचूक आउटपुट अपने यूजर को प्रदान करता है। कंप्यूटर एक वो डिवाइस या मशीन है जिसके वजह से मनुष्यो का जीवन बोहोत ही सरल हो गया है। 

कंप्यूटर की मदत से दुनिया में बोहोत सरे अविष्कार किये गए है जिससे इंसानो को मदत मिल सके। आज के युग में कंप्यूटर से कोई भी इंसान अनजान नहीं है। 

इसका इस्तेमाल दुनिया की करीब ७० प्रतिशत आबादी करती है वो फिर मोबाइल (स्मार्टफोन ), डेस्कटॉप, लैपटॉप, टेबलेट पीसी, स्मार्ट घडी के रूप में हो सकता है।  

इसमें एक मेमोरी भी होती है जो डेटा, प्रोग्राम और रिजल्ट को स्टोर करती है।

कंप्यूटर के कुछ घटक है जैसे हार्ड डिस्क, मदर बोर्ड, मॉनिटर और जिन्हे हम छू सकते है ऐसी वस्तुए , इनको हार्डवेयर कहा जाता है। प्रोग्राम और डेटा के संग्रह जिनको हम छू नहीं सकते बस देख सकते है उसको कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कहा जाता है।

“कंप्यूटर” यह शब्द लैटिन शब्द  “कंप्यूट” से लिया गया है जिसका अर्थ गिनती करना होता है। एनालिटिकल इंजन पहला कंप्यूटर था जिसका आविष्कार चार्ल्स बैबेज ने 1837 में किया था। इसमें पंच कार्ड्स को रीड-ओनली मेमोरी के रूप में इस्तेमाल किया गया था। चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर के पिता के रूप में भी जाना जाता है।

मुझे लगता है की computer kya hai? यह आपको कुछ कुछ समझ में आ गया होगा। तो चलिए अब जानते है की कंप्यूटर के क्या उपयोग है?

कंप्यूटर का उपयोग कहा किया जाता है ?

दोस्तों कंप्यूटर एक गणना करने वाली मशीन है जिसे मनुष्यो द्वारा बनाया गया है, आप सभी ने देखा होगा कंप्यूटर का इस्तेमाल गवर्नमेंट ऑफिसेस, दवाखाने, रेलवे , होटल्स आदि में किया जाता है।

कम्प्यूटर का उपयोग शिक्षा के क्षेत्र में किया जाता है, कंप्यूटर के माद्यम से आज हम ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर सकते है।  कोरोना काल में लॉक डाउन के समय दुनिया में ऑनलाइन पढ़ने के लिए कंप्यूटर ने बोहोत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कंप्यूटर की मदत से हम ऑनलाइन कुछ भी सिख सकते है।

कंप्यूटर का उपयोग मनोरंजन के साधन में किया जाता है, जैसे की हम ऑनलाइन गेम खेलते है, ऑनलाइन मनोरंजात्मक वीडियोस देखते है, अपने पसंदिता फिल्म और टीवी शो देखते है और इन सबको बनाने के लिए भी कंप्यूटर की जरुरत होती है। 

कंप्यूटर के प्रकार | Types Of Computer In Hindi

कंप्यूटर को उसकी क्षमता और विभिन्न मानदंडों के आधार पर अलग अलग प्रकारों में विभाजित किया गया है। कंप्यूटर आकार के आधार पर, इसको पांच प्रकारों में विभाजित किया गया है।

  1. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)
  2. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)
  3. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainfraim Computer)
  4. सुपर कंप्यूटर (Super Computer)

1. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)

 माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग छोटे कंप्यूटर की तरह व्यक्तिगत कंप्यूटर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। माइक्रो कंप्यूटर मेनफ्रेम और मिनी कंप्यूटर के मुकाबले आकार में बोहोत ही छोटा कंप्यूटर है।

इस कंप्यूटर को माइक्रोप्रोसेसर के साथ डिज़ाइन करके बनाया गया है। साथ ही इसमें सिंगल चिप है जो सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट, डेटा मेमोरी हैं; ये सब मदरबोर्ड पर जुड़े हुए हैं। इस कंप्यूटर का इस्तेमाल एक समय पर एक ही व्यक्ति कर सकता है, इसमें अन्य कंप्यूटर की तुलना में काम करने गति और डेटा को स्टोर करने की क्षमता कम है।  यह कंप्यूटर सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के रूप में मइक्रोप्रोसेसर को उपयोग में लेता है। 

दुनिया का पहला माइक्रो कंप्यूटर 8-बिट माइक्रोप्रोसेसर चिप्स के साथ बनाया गया था।

माइक्रो कंप्यूटर के सामान्य उदाहरणों में लैपटॉप, डेस्कटॉप कंप्यूटर, टैबलेट और स्मार्टफोन आते हैं। माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल आम तौर पर ब्राउज़िंग, इंटरनेट, एमएस ऑफिस, सोशल मीडिया आदि का उपयोग करने के लिए होता हैं।

2. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)

मिनी कंप्यूटर को मिनी के नाम या रूप में जाना जा सकता है, इन छोटे कंप्यूटरों को १९६० के दशक के बिच में दुनिया में लाया गया था।  मिनी कंप्यूटर एक वो कंप्यूटर होता है जिसमे एक बड़े कंप्यूटर  सारे गन और विशेषताएं होती है, लेकिन यह मिनी कंप्यूटर बाकि कम्प्यूटर्स की तुलना में आकर में छोटे होते है। 

Computer kya hai?

मिनी कंप्यूटर को माइक्रो कंप्यूटर और मेनफ्रेम कंप्यूटर के बिच रखा गया है , क्यों की इसका आकार माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में बड़ा और मेनफ्रेम कंप्यूटर की तुलना में तुलना में छोटा है। 

मिनी कंप्यूटर में एक से अधिक यूजर काम कर सकते है, मिनी कंप्यूटर उदाहरण: IBM का AS / 400e, हनीवेल 200, TI-990। एक मिनीकंप्यूटर, जिसका अब ज्यादा इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

3. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainfraim Computer)

मेनफ्रेम कंप्यूटर एक वो कंप्यूटर है जिसका उपयोग एकसाथ हजारो लोग कर सकते है। 

मेनफ्रेम का उपयोग बड़ी बड़ी कंपनियों और सरकारी संस्था में किया जाता है। क्यू की इन संघटनो द्वारा उनके व्यवसाय चलाने के लिए और काम को आसान बनाने के लिए इन संघटनो में मेनफ्रेम कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है।  मेनफ्रेम कंप्यूटर की देता स्टोर करने की क्षमता और काम करने की गति दूसरे कम्प्यूटर्स के मुकाबले ज्यादा होती है।

उदाहरण के लिए, बैंक, विश्वविद्यालय और बीमा कंपनियां अपने ग्राहकों, छात्रों और पॉलिसीधारकों के डेटा को स्टोर करने के लिए मेनफ्रेम कंप्यूटर का उपयोग करती हैं।

4. सुपर कंप्यूटर  (Super Computer)

सुपर कंप्यूटर एक वो कंप्यूटर है जो सभी तरह के कंप्यूटर का बाप है।  सुपर कंप्यूटर की कीमत बाकि आम कम्प्यूटर्स के मुकाबले बोहोत ही अधिक है।

सुपर कंप्यूटर को खरीदना किसी आम इंसान के बस की बात नहीं है, यह दुनिया का सबसे महंगा कंप्यूटर मन जाता है।  सुपर कंप्यूटर की काम करने की क्षमता और उसकी निर्देश प्रदान करने की गति सर्वाधिक होती है। 

Computer kya hai?

सुपर कंप्यूटर में आप जितना चाहे डेटा स्टोर कर सकते है इसके पास डेटा स्टोर करने के लिए अधिकतम जगह उपलब्ध होती है।  सुपर कंप्यूटर का उपयोग वैज्ञानिक संस्थाओ द्वारा, अनुप्रयोग और इंजीनियरिंग के कार्यो में होता है।

कंप्यूटर के 10  लाभ| Top 10 Benefits of Computer in Hindi

1. एक कंप्यूटर की मदत से आपकी कंपनी या संस्था की काम करने की क्षमता और उत्पादकता बढ़ाता है। इसकी मदत से आप किसी वर्ड दस्तावेजों को आसानी से और जल्दी से बना सकते हैं, सेव कर सकते हैं, एडिट कर सकते हैं और प्रिंट कर सकते हैं।

2. कंप्यूटर की मदत से आप इंटरनेट से कनेक्ट हो सकते है जिसकी मदत से आप किसी को ईमेल भेज सकते है, आपका  पसंदिता कुछ भी आप कंप्यूटर पर इंटरनेट के माद्यम से सर्च करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

3. कंप्यूटर की मदत से आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग कर सकते हैं, आप अपने लंबी दूरी के दोस्तों और परिवार के सदस्यों से भी जुड़ सकते हैं।

Computer kya hai?

4. कंप्यूटर में डेटा स्टोर करने की क्षमता अधिक होती है जिसकी मदत से आप अपनी जरुरी जानकारिया इसमें स्टोर कर सकते है। आप अपनी परियोजनाओं, ईबुक, दस्तावेजों, फिल्मों, चित्रों, गीतों, और बहुत कुछ को स्टोर कर सकते हैं।

5. आप कंप्यूटर का उपयोग गाने सुनने, मूवी देखने, गेम खेलने और बहुत कुछ करने के लिए कर सकते हैं।

6. संगठित डेटा और सूचना: यह न केवल आपको डेटा संग्रहीत करने की अनुमति देता है, बल्कि आपको अपने डेटा को व्यवस्थित करने में भी सक्षम बनाता है। उदाहरण के लिए, आप विभिन्न डेटा और सूचनाओं को संग्रहीत करने के लिए अलग-अलग फ़ोल्डर बना सकते हैं और इस प्रकार आसानी से और तेज़ी से जानकारी खोज सकते हैं।

7. अगर आपको अंग्रेजी भाषा का ज्ञान नहीं है, फिर भी आप कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकते है, यह आपको आपकी भाषा में जानकारी प्रदान करता है। यह आपको अंग्रेजी लिखने में मदद करता है। इसी तरह, यदि आप गणित में अच्छे नहीं हैं, और आपके पास मेमोरी नहीं है, तो आप गिनती करने और रिजल्ट को को सेव करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं।

8. कंप्यूटर का उपयोग शारीरिक रूप से अपंग लोगों की मदद करने के लिए किया जा सकता है, जैसे, स्टीफन हॉकिंग, जो बोलने के लिए उपयोग किए गए कंप्यूटर को बोलने में सक्षम नहीं थे। यह स्क्रीन पर क्या है यह पढ़ने के लिए विशेष सॉफ़्टवेयर स्थापित करके नेत्रहीन लोगों की मदद करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

9. कंप्यूटर की मदत से ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण करने में मदत मिलती है। कोरोना काल में कंप्यूटर के जरिये ऑनलाइन एजुकेशन पाने में बोहोत मदत मिली है।

10. कंप्यूटर के इस्तेमाल से आप घर बैठे ऑनलाइन काम करके पैसा भी कमा सकते है।

Generations Of Computers In Hindi

कंप्यूटर में समय के साथ साथ कुछ बेसकी और एडवांस बदलाव किये गए और इन्हे बोहोत ही सुजाक, सुन्दर और फ़ास्ट बनाया गया इस प्रोसेस में धीरे धीरे कंप्यूटर में बदलाव किये गए उसे कुछ जनरेशन में बांटा गया। 

 1946 में, गिनती करने के लिए सर्किट नाम के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बनाये गए थे।  इसमें गिनती करने के लिए उपयोग किये जाने वाले अंदरूनी भागो में बदलाव किये गए।

समय के साथ साथ जैसे जैसे जनरेशन बढ़ती गयी वैसे ही कम्प्यूटर्स का आकार छोटा होता गया, उनकी काम करने की गति बढ़ती गयी, देखने में आकर्षक और इस्तेमाल करने में बोहोत ही आसान होते गए। 

1. पहली जनरेशन के कंप्यूटर (1st Generation Of Computer)

कंप्यूटर के पहली जनरेशन की शुरुवात १९४६ में शुरू हो कर १९५९ में ख़तम हो गयी थी।  इस जनरेशन के कम्प्यूटर्स बोहोती धीमे गति से चलनेवाले कम्प्यूटर्स थे, ये आकार में बोहोत ही  विशाल और महंगे थे। 

इन कम्प्यूटर्स में वैक्यूम तुबे का इस्तेमाल किया जाता था। ये कंप्यूटर मुख्य रूप से बैच ऑपरेटिंग सिस्टम और पंच कार्ड पर निर्भर थे। इस जनरेशन में आउटपुट और इनपुट डिवाइस के रूप में चुंबकीय टेप और पेपर टेप का उपयोग किया गया था। 

कुछ लोकप्रिय पहली जनरेशन के कंप्यूटर हैं

ENIAC ( Electronic Numerical Integrator and Computer)

EDVAC ( Electronic Discrete Variable Automatic Computer)

UNIVACI ( Universal Automatic Computer)

IBM-701

IBM-650

2. दूसरी जनरेशन के कंप्यूटर (2nd Generation Of Computer)

कंप्यूटर के दूसरी जनरेशन की शुरुवात १९५९  में शुरू हो कर १९६५ में ख़तम हो गयी थी। इन कंप्यूटरों में ट्रांजिस्टर का उपयोग किया जाता था जो सस्ते थे, और बिजली का का इस्तेमाल होता था। यह ट्रांजिस्टर कम्प्यूटर्स पहली जनरेशन के कंप्यूटर के मुकाबले तेज थे।

इस जनरेशन में, चुंबक के कोर का उपयोग प्राथमिक मेमोरी के रूप में किया जाता था और चुंबकीय प्लेट और टेप को दूसरी मेमोरी के रूप में उपयोग किया जाता था। इन कंप्यूटरों में असेंबली लैंग्वेज और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल किया गया।

कुछ लोकप्रिय दूसरी जनरेशन के कंप्यूटर हैं

IBM 1620

IBM 7094

CDC 1604

CDC 3600

UNIVAC 1108

3. तीसरी जनरेशन के कंप्यूटर (3rd Generation Of Computer)

तीसरी जनरेशन के कंप्यूटर को ट्रांजिस्टर के बजाय आईसी का इस्तेमाल करके बनाया गया। एक आईसी ट्रांजिस्टर की बड़ी मात्रा को पैक कर सकता है जिसने कंप्यूटर की कार्यशक्ति को बढ़ाया और पैसो की लागत को कम किया। तीसरी जनरेशन के कंप्यूटर अधिक विश्वसनीय, कुशल और आकार में छोटे हो गए। ये जनरेशन के कंप्यूटर रिमोट प्रोसेसिंग, टाइम-शेयरिंग, मल्टी प्रोग्रामिंग को ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में इस्तेमाल करते थे।

कुछ लोकप्रिय तीसरी जनरेशन के कंप्यूटर हैं

IBM-360 series

Honeywell-6000 series

PDP(Personal Data Processor)

IBM-370/168

TDC-316

4. चौथी जनरेशन के कंप्यूटर (4th Generation Of Computer)

कंप्यूटर के चौथी जनरेशन की शुरुवात १९७१ में शुरू हो कर १९८०  में ख़तम हो गयी थी। चौथे जनरेशन के कम्प्यूटर्स में वीएलएसआई सर्किट का इस्तेमाल किया गया। 

इन वीएलएसआई सर्किट चिप्स ने इस जनरेशन के कंप्यूटरों को अधिक कॉम्पैक्ट, शक्तिशाली, तेज और कीमत में सस्ता बना दिया। इस जनरेशन में C, C ++, DBASE जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं का भी उपयोग किया गया था।

कुछ लोकप्रिय चौथी जनरेशन के कंप्यूटर हैं

DEC 10

STAR 1000

PDP 11

CRAY-1(Super Computer)

CRAY-X-MP(Super Computer)

5. पांचवीं  जनरेशन के कंप्यूटर (5th Generation Of Computer)

कंप्यूटर के पांचवीं जनरेशन की शुरुवात १९८०  में शुरू हुई थी और आज तक जारी है।

पांचवीं जनरेशन के कंप्यूटरों में वीएलएसआई तकनीक को यूएलएसआई  से बदल दिया गया। इसने दस मिलियन इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के साथ माइक्रोप्रोसेसर चिप्स के उत्पादन को संभव बनाया। इस जनरेशन के कंप्यूटर समानांतर हार्डवेयर और AI (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते है। इस जनरेशन में उपयोग की जाने वाली प्रोग्रामिंग भाषाएं C, C ++, Java, .Net आदि है।

पांचवीं जनरेशन के कुछ लोकप्रिय कंप्यूटर हैं

Desktop

Laptop

NoteBook

UltraBook

ChromeBook

मुझे उम्मीद है आपको मेरा यह ब्लॉग Computer Kya Hai? पसंद आया होगा।  ऐसे ही नए नए ब्लॉग पढ़ने के लिए हमारे इस ब्लॉग को Like और Share करे। 

यह भी पढ़े:-

Digital Marketing Tips & Education

Digital Marketing Kya Hai ? डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

ऑनलाइन पैसे कमाने के Top 10 तरीके

You may also like...

17 Responses

  1. merry says:

    amazing article

  2. Puspendra says:

    Thanks for information about computer use Keywords

  3. Junaid says:

    you content is amazing and useful keep up the good work

  4. Aditya says:

    Nice Information Brother!!

  5. Anshul Kirti says:

    Nice article written by you. Thank you

  6. Prince says:

    Amazing post bro

  7. Globyweb says:

    Great article on computer, it gives me knowledge about so much unknown things.

  8. Avi Goel says:

    Very Useful and Great Tips and Information on computer

  9. Firoz Khan says:

    Awesome information, just what I need. Thanks for providing this detailed value of content.

  10. Amarhindi says:

    Wonder Full Post

  11. Avi Goel says:

    Bhai Bahut Badiya Article hai

  12. kishan singh says:

    Thankyou sir, It is really a good level of content which cleared my all query.

  13. आपका लेखन शैली बहुत बढ़िया है मेरा भी हिन्दी ब्लॉग है इसे आप जरूर पढ़ें

  14. quizes.in says:

    आप का समझने का तरीका बहुत अच्छे और आसान है , thank you sir

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *